Raaz Lyrics – Asim Riaz

Raaz Lyrics – Asim Riaz

Raaz राज़ lyrics by Asim Riaz is a Hindi song composed by Roach Killa while penned by Asim Riaz having music label Asim Riaz.

Raaz Song Credits

Song Title – Raaz
Music – Roach Killa
Singer – Asim Riaz
Lyricist – Asim Riaz
Music Label – Asim Riaz

Raaz Song Lyrics in English

Kisi ka yahan koi nahi kisi ka
Kisi ka yahan
Kisi ka yahan koi nahi kisi ka
Kisi ka yahan koi nahi kisi ka

Kisi ka yahan koi na
Saare chehre lagne lage hain kyun anjaan
Dil suli pe chadake bane dhanda
Yahan sapno ke kasai pehnate fanda

Bhai aur bhai ko ladake
Yeh dikhana chahein
National TV pe jami ankhon pe
Chhana chahein

Meri rooh kahe mujhe
Jo tu kehna chahe
Dil khol ke keh de
Bas rehna jaye
Dil mein koi baat

Munawar bolne se pehle hua giraftar
Suna Pratik ka bhi kar rakha bura haal
Fizul ke iss nafrat ka na kare insaaf
Yahan koi nahi jiska ho dil poora saaf

To bas karo mujhe maaf
Aisa lagne laga mujhe kaynaat hai khilaaf
Kyunki

Kisi ka yahan koi nahi kisi ka
Kisi ka yahan koi nahi kisi ka
Kisi ka yahan koi nahi kisi ka

Muh pe bana bhai
Peeth peeche chaaku
Tere dil mein tabaahi
Apne kaam se daba doon
Mera naam de gawahi

Kyun main tujhpe gawa doon
Desi rap se ladai
Teri agli verse mein saza doon

Jo bhi likhun
Alfaaz mere jaadu
Har taal pe bekabu
Jaise jaal yeh bichha doon
Teri khaal pe likha doon

Har ek line har ek baar
Naya time naya daur
Naye players naya raj
King king

Bikhar gaya hai taj
Ab tukdo pe kya naaz
Gir chuka hai
Khuda ki rehmat se tu aaj

Main hoon naya aagaz
Tujhko pata yeh raaz
Gaane ka woh pehla video call
Tera hi aaya tha mere paas

Ab na karna call
Hoga pardafash
Signing off
Tera bhai Asim Riaz

Trust no one
Trust no one
Trust no one
Trust trust

Raaz Song Lyrics in Hindi

किसी का यहाँ कोई नहीं किसी का
किसी का यहाँ
किसी का यहाँ कोई नहीं किसी का
किसी का यहाँ कोई नहीं किसी का

किसी का यहाँ कोई ना
सारे चेहरे लगने लगे हैं क्यों अनजान
दिल सूली पे चढ़ाके बने धंदा
यहाँ सपनो के कसाई पहनाते फंदा

भाई और भाई को लड़ाके
ये दिखाना चाहें
नेशनल टीवी पे जमी आँखों पे
छाना चाहें

मेरी रूह कहे मुझे
जो तू कहना चाहे
दिल खोल के केह दे
बस रहना जाये
दिल में कोई बात

मुन्नवर बोलने से पहले हुआ गिरफ्तार
सुना प्रतिक का भी कर रखा बुरा हाल
फ़िज़ूल के इस नफरत का ना करे इन्साफ
यहाँ कोई नहीं जिसका हो दिल पूरा साफ़

तो बस करो मुझे माफ़
ऐसा लगने लगा मुझे कायनात है खिलाफ
क्यूँकी

किसी का यहाँ कोई नहीं किसी का
किसी का यहाँ कोई नहीं किसी का
किसी का यहाँ कोई नहीं किसी का

मुँह पे बना भाई
पीठ पीछे चाक़ू
तेरे दिल में तबाही
अपने काम से दबा दूँ
मेरा नाम दे गवाही

क्यूँ मैं तुझपे गवां दूँ
देसी रैप से लड़ाई
तेरी अगली वर्स में सजा दूँ

जो भी लिखूँ
अलफ़ाज़ मेरे जादू
हर ताल पे बेकाबू
जैसे जाल ये बिछा दूँ
तेरी खाल पे लिखा दूँ

हर एक लाइन हर एक बार
नया टाइम नया दौर
नए प्लेयर्स नया राज
किंग किंग

बिखर गया है ताज
अब टुकड़ों पे क्या नाज़
गिर चूका है
खुदा की रहमत से तू आज

मैं हूँ नया आगाज़
तुझको पता ये राज़
गाने का वो पहला वीडियो कॉल
तेरा ही आया था मेरे पास

अब ना करना कॉल
होगा पर्दाफाश
साइनिंग ऑफ
तेरा भाई असीम रिआज़

ट्रस्ट नो वन
ट्रस्ट नो वन
ट्रस्ट नो वन
ट्रस्ट ट्रस्ट

Raaz Video

Comments

No comments yet. Why don’t you start the discussion?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *